Advertisements

Ye Duniya Yeh Mehfil Lyrics (ये दुनिया यह महफ़िल) – Heer Raanjha (1970)

Print Friendly, PDF & Email

Ye Duniya Yeh Mehfil Lyrics in Hindi & English. ये दुनिया यह महफ़िल song from Heer Raanjha 1970. It stars Raaj Kumar and Priya Rajvansh. The singer of Ye Duniya Yeh Mehfil is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Kaifi Azmi Music is given by Madan Mohan Kohli.

Ye Duniya Yeh Mehfil Lyrics
Advertisements

Song Details

Song Title:
Ye Duniya Yeh Mehfil
Album:
Heer Raanjha (1970)
Singers:
Mohammed Rafi
Lyrics:
Kaifi Azmi
Music:
Madan Mohan Kohli
Label:
Saregama
Featuring:
Raaj Kumar, Priya Rajvansh

Lyrics in English

Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi

Kis ko sunaoo hal
Dil-e-bekarar kaa
Bujata huwa charag
Hu apne majar kaa
Aye kash bhul jau
Magar bhulata nahi
Kis dhum se uthha
Tha janaja bahar kaa
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi

Apna pata mile naa
Khabar yar ki mile
Dushman ko bhi naa
Aisi saja pyar ki mile
Unako khuda mile hain
Khuda ki jinhe talash
Mujh ko bas yek jalak
Mere diladar ki mile
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi

Sahara me aake bhi mujh
Ko thhikana naa mila
Gham ko bhulane kaa
Koi bahana naa mila
Dil tarase jis mein pyar ko
Kya samajoo us sansar ko
Yek jiti baji har ke mai
Dhundu bichhade yar ko
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi

Dur nigaho se aansu
Bahata hain koi
Kaise naa jau mai mujh
Ko bulata hain koi
Ya tute dil ko jod do
Ya sare bandhan tod do
Aye parabat rasta de mujhhe
Aye kanto daman chhod do
Ye duniya yeh mehfil
Mere kam ki nahi
Mere kam ki nahi.

More Songs You May Like:-
Best Songs of Asha Bhosle
Best Songs of Kishore Kumar
Best Songs of Md. Rafi
Best Songs of Lata Mangeshkar
Best Songs of Mukesh
Evergreen Hindi Old Songs

Lyrics in Hindi

ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं

किस को सुनाऊ हल
दिल-इ-बेक़रार का
बुजता हुवा चराग
हु अपने मज़ार का
ए काश भूल जाऊ
मगर भूलता नहीं
किस धुम से उठा
था जनजा बहार का
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं

अपना पता मिले ना
खबर यर की मिले
दुश्मन को भी ना
ऐसी सजा प्यार की मिले
उनको खुदा मिले हैं

खुदा की जिन्हे तलाश
मुझ को बस एक झलक
मेरे दिलदार की मिले
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं

सहारा में आके भी मुझ
को ठिकाना ना मिला
ग़म को भुलाने का
कोई बहाना ना मिला
दिल तरसे जिस में प्यार को
क्या समाजू उस संसार को
एक जीती बाजी हार के मई
धुंडु बिछड़े यार को
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं

दूर निगाहो से आंसू
बहता हैं कोई
कैसे ना जाऊ मै मुझ
को बुलाते हैं कोई
या टूटे दिल को जोड़ दो
या सारे बंधन तोड़ दो
ए परबत रास्ता दे मुझे
ए काँटों दामन छोड़ दो
ये दुनिया यह महफ़िल
मेरे काम की नहीं
मेरे काम की नहीं.

Latest Post :-

Advertisements
Sharing Is Caring:

I am MCA student and also I am a blogger and SEO expert since 2019. I have designed many websites.

Leave a Comment