Masstaani ( मस्तानी ) Lyrics – Asees Kaur

Masstaani lyrics in Hindi, sung by Asees Kaur . The Song is written by Shekhar Astitwa and music composed By Arabinda Neog .

Masstaani Lyrics in English:-

Bheegi bheegi ashqon ki
Kahani na bane
Bheegi bheegi ashqon ki
Kahani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
Bann ke maasoom sapno ki galiyon mein
Bhanwre tamaam doobe galiyon mein
Bann ke maasoom sapno ki galiyon mein
Bhanwre tamaam doobe galiyon mein
Chahat ka yeh jazbaat
Badgumaani na bane
Chahat ka yeh jazbaat
Badgumaani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
Yeh maana pyaar koyi
Zanjeer nahi maane
Wo rishta kya jisko
Yeh zameeer nahi maare
Karke daga wo jo apno ko chhod de
Dil kyun na aise jhoothe rishte ko tod ke
Kar ke daga wo jo apno ko chhod de
Dil kyun na aise jhoothe rishte ko tod ke
Jo haq par chal sake na
Wo jawaani na bane
Jo haq par chal sake na
Wo jawaani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
Qismat pe kisi ka bhi
Koyi zor nahi hota
Par izzat se badh ke
Kuch aur nahi hota
Qismat pe kisi ka bhi
Koyi zor nahi hota
Par izzat se badh ke
Kuch aur nahi hota
Ungli yeh jag uthaaye
Wo nadaani na bane
Ungli yeh jag uthaaye
Wo nadaani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
Rabba koyi ishq mein
Masstaani na bane
Oh rabba koyi ishq mein
Mastaani na bane
 
 
 

Masstaani Lyrics in Hindi:-

भीगी भीगी अश्क़ों की
कहानी ना बने
भीगी भीगी अश्क़ों की
कहानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने
बॅन के मासूम सपनो की गलियों में
भंवरे तमाम डूबे गलियों में
बॅन के मासूम सपनो की गलियों में
भंवरे तमाम डूबे गलियों में
चाहत का यह जज़्बात
बदगुमानी ना बने
चाहत का यह जज़्बात
बदगुमानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने
यह माना प्यार कोई
ज़ंजीर नही माने
वो रिश्ता क्या जिसको
यह ज़मीएर नही मारे
करके दागा वो जो अपनो को छ्चोड़ दे
दिल क्यूँ ना ऐसे झूठे रिश्ते को तोड़ के
कर के दागा वो जो अपनो को छ्चोड़ दे
दिल क्यूँ ना ऐसे झूठे रिश्ते को तोड़ के
जो हक़ पर चल सके ना
वो जवानी ना बने
जो हक़ पर चल सके ना
वो जवानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने
क़िस्मत पे किसी का भी
कोई ज़ोर नही होता
पर इज़्ज़त से बढ़ के
कुछ और नही होता
क़िस्मत पे किसी का भी
कोई ज़ोर नही होता
पर इज़्ज़त से बढ़ के
कुछ और नही होता
उंगली यह जाग उठाए
वो नादानी ना बने
उंगली यह जाग उठाए
वो नादानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने
रब्बा कोई इश्क़ में
मस्स्तानी ना बने
ओह रब्बा कोई इश्क़ में
मस्तानी ना बने

Song Title: Masstaani
Singer: Asees Kaur
Lyricist: Shekhar Astitwa
Music: Arabinda Neog
Music Label: Times Music

If do you like Masstaani Song Lyrics, So Please share it for your Friends. B’coz it was only take some minute. If there are any mistakes in the Masstaani Song Lyrics please let us know by submitting the corrections in the comments section.

Thank You For Visiting My Blog.
Admin :- Mr. Bunny.
Sharing Is Caring:

Leave a Comment